नॉर्थ कोरिया के इस बम से फैल जाएगा प्लेग और चेचक, दुनिया में दहशत

0
230

वाशिंगटन। परमाणु हथियारों के साथ-साथ नॉर्थ कोरिया जैविक हथियार भी विकसित कर रहा है। एक अमेरिकी थिंकटैंक की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। ‘बेल्फर सेंटर’ के अध्ययन में कहा गया है कि संभव है कि प्योंगयांग प्लेग और चेचक फैलाने वाले जैविक हथियार बना रहा हो। उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों के बढ़ते खतरे के बीच इस रिपोर्ट से चिंता और बढ़ सकती है।

बेल्फर सेंटर के अध्ययन में कहा गया है कि उत्तर कोरिया जैविक हथियार बनाने में जुटा हुआ है। रिपोर्ट में उत्तर कोरिया के पूर्व राजनयिक ताए योउंग-हो के हवाले से कहा गया कि उत्तर कोरिया ने 1960 के दशक में ही केमिकल और जैविक हथियार विकसित करने का काम शुरू कर दिया था।

रिपोर्ट्स की माने तो उत्तर कोरिया की ओर से तैयार किए जाने वाले हथियारों से प्लेग, ऐंथ्रेक्स, स्मॉलपॉक्स और रक्तस्रावी जैसी बीमारियां हो सकती है। इस रिपोर्ट के लेखक का कहना है कि दुनिया के ज्यादातर देशों का फोकस नॉर्थ कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर है, ऐसे में उसके बायलॉजिकल प्रोग्राम पर भी ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘बायलॉजिकल वेपन के खिलाफ तैयारी जरूरी है, जो प्राकृतिक तौर पर फैलने वाली महामारी से भी रक्षा करेगी। 21वीं सदी में महामारी तेजी से फैल रही है।’

उल्लेखनीय है कि साल 1950 से 1953 के बीच उत्तर कोरिया में हैजा, टाइफस, टाइफाइड और चेचक से हजारों की संख्या में लोग मौत के आगोश में समा गए थे। इसके लिए उत्तर कोरिया ने अमेरिकी के जैविक हथियारों को जिम्मेदार ठहराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here