क्या है इलुमिनाती क्या होता है इसका मतलब

0
328

भूत, प्रेत, शैतान, आत्मा इन सब का खेल हमेशा समझ से परे रहा है। कहतें हैं जिसने देखा उसने जाना जिसने नहीं देखा उसने नहीं माना।

हम बताने जा रहे हैं कुछ इन्हीं के बारे में कभी आपने इलुमिनाती का नाम सुना है। नहीं सुना है तो हम बता देते हैं। वैसे तो ये जो टॉपिक है टेक्निकल नहीं है। लेकिन, इसका जो रिलेशन है वो इंटरनेट के साथ जुड़ गया है।

अगर, आपने बाइबिल पढ़ी होगी या कुरान-ए-शरीफ पढ़ी होगी या फिर गीता पढ़ी होगी या गुरु ग्रंथ साहिब पढ़ी होगी। तो आपको यह पता होगा कि भगवान और शैतान दोनो ही होते हैं। भगवान अच्छे और शैतान बुरे।

यूरोप में सन् 1700 में एक सीक्रेट सोसाइटी बनी जिसका नाम था द आर्डर ऑफ द इलुमिनाती। ये कुछ ग्रुप के लोग थे जो शैतान की पूजा करते थे। उनका ये मानना था कि अगर आप अपनी आत्मा शैतान को बेच देते हैं तो आपको हर कामयाबी मिल जाएगी। आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता है।

कोई भी चाहेगा कि चलो हम अपनी आत्मा शैतान को बेच देते हैं। शैतान बन जाते हैं कामयाबी तो मिल जाएगी। इंटरनेट पर भी इसका शिलशिला शूरू हो गया। इंटरनेट पर एक वेबसाइट है इलुमिनाती की जहां पर जहां आप इलुमिनाती के मेंबर बनकर इस ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं।

चलो अब दिमाग लगाते हैं क्या हमको सही में आत्मा शैतान को बेचनी चाहिए। या फिर इंटरनेट की वेबसाइट पर कुछ रुपये देने से आप अपनी आत्मा बेच पाते हैं। ज्यादातर इसे बकवास मानेंगे और है भी बकवास। या फिर कुछ ऐसा है जिसके बारे में हम नहीं जानते। लेकिन, इंटरनेट पर एसा नहीं हो सकता है इंटरनेट पर आत्मा बेची नहीं जा सकती है। यकीनन वो लोग फ्राड होते हैं जो आपसे ये कहते हैं वह आपको इलुमिनाती में ज्वाइन करा सकते हैं। अगर वह करा भी सकते हैं। या मानलीजिए यह चीज सही है भी तो शैतानी शक्ति, शैतानी ताकतें इन चीजों के पास जाना यह गलत है। यह सही तरीका नहीं है।

एक्सपर्ट का यहां तक मानना है कि दुनिया में जितनी चीजें बुरी होती हैं। जितने भी टेररिस्ट अटैक होते हैं यह सब इलुमिनाती के आदेश से होते हैं। एसा भी मानते हैं लोग कुछ बड़े सेलेब्रिटी हैं जो बहुत जल्दी फेमस हुए हैं। जैसे एक दो साल में कोई रैपर बन गया। बहुत बड़ा कोई एक्टर बन गया। वह सब इस चीज से ही हुए हैं। यहां तक कि यूएसए में जो वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला हुआ था। वह चीज भी इलुमिनाती के आदेश से ही हुई थी। इसको डॉलर के नोट के साथ जोड़ा गया। एक डॉलर का जो नोट होता है। अगर आप उसको ट्राईएंगल में मोड़ दें तो आपको वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की टूटी बिल्डिंग धुआं उठते हुए दिखेगी।

अब बारी आती है इन लोगों ने क्या चिह्न होते हैं या इनके आका कौन होते हैं। इनके आका शैतान होते हैं।

पैफोमेंट- यह एक चित्र होता है जिसकी शक्ल बकरे है। शरीर औरत का है और हाथ पैर अलग-अलग जानवर के हैं। ट्रिपल ६, हाथ से पैफोमेंट का निशान बनाना यह सब इलुमिनाती की पहचान है। एसा लोग मानते हैं जितने भी सेलेबिट्री गाते वक्त, रैप करते वक्त, नाचते वक्त जितने भी लोग ट्राईएंगल का निशान बनाते हैं या ट्रिपल ६ नंबर दिखाते हैं। वह लोग पैफोमेंट को दर्शाते हैं और कहीं न कहीं एक मैसेज दे रहे होते हैं कि वह इलुमिनाती के सदस्य हैं।

जैसा कि यह एक सीक्रेट सोसाइटी है। इसके मिशन सीक्रेट ही होते हैं यह आम लोगों तक नहीं पहुंच पाते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यहां तक कि जो एडवरटाइसमेंट होते हैं उनमें इलुमिनाती के मैसेज छुपे रहते हैं। यह हम नहीं कह रहा हूं यह जो बड़े-बड़े विशेषज्ञ हैं दुनिया के वह कह रहे हैं। गाने, टीवी सीरियल्स, फिल्में इन सभी के माध्यम से कहीं न कहीं एक मैसेज छोड़ा जाता है कि इलुमिनाती भी एक चीज होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here