फ़्रांसीसी राष्ट्रपति के चुनाव में एक प्रेम कहानी की चर्चा

0
196

फ्रांसीसी राष्ट्रपति चुनाव में एक प्रेम कहानी चर्चा का विषय रही है. यह कहानी शीर्ष पद के प्रबल दावेदार 39 वर्षीय इमैन्यूएल मेक्रोन की है. उन्होंने 17 साल की उम्र में ही 25 साल बड़ी शिक्षिका ब्रिजिट के सामने शादी का पस्ताव रख दिया था. उसके बाद 30 साल की उम्र में 2007 में उनसे शादी कर ली  फ्रांसीसी राष्ट्रपति चुनाव में इमैन्यूएल मेक्रोन की जीत को जहाँ सम्पूर्ण दुनिया में लोकतंत्र की जीत बताया जा रहा है वहीँ दूसरी ओर अब पुन: लोगों का ध्यान फ्रांस की फर्स्ट लेडी बनने वाली ब्रिजिट ट्रोग्न्यूक्स पर गया है. अपनी अनोखी लव स्टोरी में ब्रिजिट ने टीचर से फ्रांस के फर्स्ट लेडी तक की यात्रा भी अनोखे ढंग से तय की है.

15 साल की उम्र में मुलाकात

मेक्रोन की शिक्षा एमिंस के जेसुइट हाईस्कूल में हुई ब्रीजिट वहां पढाती थी और उस ड्रामा क्लास की भी प्रमुख थी, जहाँ मैक्रोन रोजाना जाते थे. 1992 में वही दोनों की पहली मुलाकात हुई तब मेक्रोन 15 साल के थे .

पनपा प्यार और दिया शादी का प्रस्ताव

मैक्रोन ब्रिजिट के ड्रामा में अभिनय करने लगे साथ ही वह उनकी साहित्य की कक्षा में भी जाते थे. धीरे-धीरे मैक्रोन के दिल में ब्रिजिट के लिए प्यार पनपा 17 साल की उम्र में मैक्रोन ने ब्रिजिट से शादी करने का आग्रह किया. तब 42 साल की ब्रिजिट शादीशुदा थीं और उनके तीन बच्चे थे उन्होंने मैक्रोन का प्रस्ताव नकार दिया. लेकिन दोनों में प्यार बरकार रहा और वे करीब आते गये.

परिवार ने अलग करना चाहा

मैक्रोन के परिवार को जब दोनों के रिश्ते की भनक लगी तो उसने दोनों को अलग करना चाहा था. इसके लिए उन्होंने मैक्रोन को स्कूली शिक्षा खत्म करने के लिए पेरिस भेज दिया. लेकिन दोनों एक-दुसरे से अलग नही हुए दोनों में बात जारी रही.

सात नाती-पोते

ब्रिजिट के तीन बच्चे और साथ नाती-पोते है. उनके पहले बेटे की उम्र मेक्रोन से दो साल अधिक है. उनकी बेटी लारेंस की उम्र मैक्रोन के बराबर है.

2007 में की शादी

मैक्रोन 2004 में ग्रेजुएट हुए. इसके बाद 2006 में ब्रिजिट ने अपने पति एंडरे लुइस को तलाक दिया और 2007 में मैक्रोन से शादी कर ली. तब मैक्रोन 30 साल के थे. अब मैक्रोन 39 और ब्रिजिट 64 साल की है.

इमैन्यूएल मैक्रोन का राजनीतिक सफर

  • 2006-09 तक सोशलिस्ट पार्टी के सदस्य रहे.
  • 2012-14 तक राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के आवासीय स्टाफ में डिप्टी सक्रेटरी जरनल रहे.
  • 2014में वित्त मंत्रि बने 2015में निर्दलीय होने की घोषडा की.
  • 2016 में आ मार्श नामक पार्टी बने.
  • 16 नवम्बर, 2016 को उनके परिवार ने उनकी राष्ट्रपति पद की दावेदारी घोषित की.
  • 8 मई, 2017 को वे राष्ट्रपति बने.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here