लीवर कैंसर और सिरोसिस का बेहतर विकल्प लीवर ट्रांसप्लांट

0
135

डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के गेस्ट्रोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.अंशुमान ने बताया कि हेपेटाइटिस सी से पीड़ित हैं उनमें से केवल 3० फीसदी लोगों को ही लीवर सिरोसिस हो सकता है। वहीं वह लोग जिन्हें हेपेटाइटिस सी होता है उनमें शत प्रतिशत संभावना होती है कि उन्हें लीवर सिरोसिस होगा। वहीं उन्होंने बताया कि जहां हेपेटाइटिस बी की वैक्सीन मौजूद हैं लेकिन हेपेटाइटिस सी की कोई वैक्सीन नहीं आई है।

उन्होंने बताया कि अगर हेपेटाइटिस सी और बी से लीवर सिरोसिस की संभावना बढ़ जाती है जिसका कैंसर में बदलने का खतरा बढ़ जाता है। वहीं एचआईवी और टीबी के मरीजों में भी हेपेटाइटिस के होने की संभावना बढ़ जाती है, क्योंकि इनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कम हो जाती है। जिससे संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है। कैंसर होने पर दवाओं के अलावा अन्य कई इलाज मौजूद हैं। लीवर कैंसर होने पर कीमोथेरपी, रेडियोथेरेपी अच्छा इलाज है। लीवर ट्रांसप्लांट के बाद कैंसर खत्म होने की संभावना 3० प्रतिशत तक हो जाती है। राजधानी में लीवर ट्रांसप्लांट की सुविधा अभी पीजीआई में मौजूद है और इससे मरीज के ठीक होने की संभावना भी बढ़ जाती है।लीवर ट्रासप्लांट के बाद भी मरीज को पोस्ट एक्पोजर से बचाने के लिए इम्युनोग्लोबयुलिन दी जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here