अमेरिका का सैन्य गुरु वार

0
318

यह  भले ही संयोग हो, लेकिन गुरुवार का अमेरिका के साथ खास नाता दिखता है. विशेषकर जब बात सैन्य अभियानों की आती है. दुनिया पर अपनी बादशाहत दिखाने के लिए इसी दिन विशेष पर यह मुल्क ऐसा कुछ कर गुजरता है. जापानी शहर नागासाकी पर परमाणु हमला हो या खाड़ी युद्ध और इराक युद्ध की शुरुआत हो, अमेरिका ने गुरुवार का दिन ही चुना है. यही नही,विगत दिनों सीरिया पर टॉमहाक मिसाइल इसी दिन दागी गयी और अफगानिस्तान में आंतकी ठिकाने पर अपना सबसे बड़ा गैर परमाण्विक बम भी गुरुवार को ही गिराया.

नागासाकी बना निशाना

नौ अगस्त, 1945 को द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में अमेरिका ने जापान के नागासाकी पर फैटमैन नामक परमाणु बम गिराया. 4,670 किग्रा वजनी इस बम से 21 किलोटन टीएनटी के समान विस्फोटक उर्जा निकली 80 हजार मौतें हुई.

खाड़ी युद्ध में कूदा

दो अगस्त, 1990 को खाड़ी युद्ध की शरुआत में अमेरिका ने सऊदी अरब को बचाने  के लिए ऑपरेशन डेजर्ट शील्ड शुरू किया. इसके बाद 17 जनवरी, 1991 को अमेरिका ने इराक के कुवैत पर कब्जे के खिलाफ ऑपरेशन डेजर्ट स्टॉर्म शुरू किया. दोनों ही दिन गुरुवार था.

इराक के खिलाफ जंग

20 मार्च, 2003 को अमेरिका ने गठबंधन सेनाओं के साथ मिलकर इराक में सद्दाम हुसैन की तानाशाही के खिलाफ जंग शुरू की इसी दिन बमबारी शुरू हुई इराक युद्ध 2011 तक चला.

लीबिया में हमले की रणनीति

17 मार्च, 2011 को अमेरिका ने ब्रिटेन के साथ लीबिया में चल रहे ग्रह युद्ध में वहां के तानाशाह गद्दाफी के खिलाफ हमले की रणनीति बने. 19 मार्च को दोनों ने बम बरशाना शुरू किया.

अफगान युद्ध का दूसरा दौर

एक जनवरी, 2015 को अमेरिका ने अफगानिस्तान में आंतकी संगठन अलकायदा के ठिकाने नष्ट करने के लिए जंग की शुरुआत की. यह अफगानिस्तान में युद्ध का दूसरा दौर था, जो अभी भी जारी है. पहला चरण 2001-14 तक चला था.

आईएएस के खिलाफ जंग

7 अगस्त, 2014 को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने टीवी पर सीधे प्रसारण में इस्लामिक स्टेट आईएएस के खिलाफ जंग का एलान किया. अगले दिन से इराक में आईएएस के ठिकानों पर बमबारी शुरू की.

सीरिया हवाई हमला

छः अप्रैल, 2017 को अमेरिका ने सीरिया के अल शायरात एयरबेस पर 59 टॉमहाक मिसाइलें बरसाई. यह सभी वार अमेरिका ने गुरुवार के दिन किये अब इसे इत्तिफाक कहें या और कुछ…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here